करणी सेना महासचिव अम्मू को भेजा गया जेल(Gurgaon film padmavat)

करणी सेना के महासचिव सूरजपाल ¨सह अम्मू को शुक्रवार दोपहर पुलिस उपायुक्त (मुख्यालय) दीपक गहलावत की कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें 29 जनवरी तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। उन्हें सीआरपीसी की धारा 107/ 151 (शांति व्यवस्था भंग करने के संदेह में) के तहत गिरफ्तार किया गया

पिछले कई महीनों से फिल्म पद्मावत के विरोध में अम्मू आवाज बुलंद कर रहे हैं। बृहस्पतिवार को फिल्म का प्रदर्शन शुरू होने के दौरान ही उन्हें उनके घर पे रोक दिया गया था। इसके बाद शाम पांच बजे उन्हें पुलिस ने हिरासत में लिया गया। बाद में लगभग एक घंटे के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। चर्चा थी कि उन्हें शुक्रवार सुबह ही रिहा कर जाएगा, लेकिन उन्हें दोपहर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। एसीपी डीएलएफ अनिल यादव का कहना है कि करणी सेना के महासचिव ¨सह अम्मू को किसी आरोप में नहीं बल्कि ऐहतियातन गिरफ्तार किया गया है। हालांकि हिरासत में लेने से पहले अम्मू ने बयान दिया था कि वह हिंसा का समर्थन नहीं करते हैं। वह शांतिपूर्ण तरीके से शुरू से ही फिल्म का विरोध कर रहे हैं और आगे भी करते रहेंगे। बता दें कि बुधवार शाम ओल्ड दिल्ली रोड स्थित राजपूत वाटिका से भी छह लोगों को ऐहतियातन हिरासत में लिया गया था। बृहस्पतिवार की शाम सभी को तीन दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भोंडसी जेल भेज दिया गया।

padmavat